Navlekha Projects क्या है ? तीन साल के लिए फ्री होस्टिंग & डोमेन कैसे ले

Like Tweet Pin it Share Share Email

हैलो दोस्तो Google के बारे मे तो आप सब जानते ही है | Google for India 2018 इवेंट का आयोजन जब नई दिल्ली में हुआ तो बहुत सारी न्यू प्रोडक्ट  का मार्केट मे एलान हुवा | ओर Google For India 2018 event मे Google ने  बहुत सारे बदलाव किया है |Navlekha Projects

आप भी Google Navlekha Projects से अंजान है तो ये पोस्ट आप के लिए उपयोगी होगी | ये पोस्ट उन सभी के लिए होगी जो अपना Business गूगल के साथ manage कर रहे हैं |  अब देखते है Navlekha प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से जानकारी |

Google Navlekha Projects मे तीन मुख्य बदलाव

1) Google Tez नाम बदल कर Google Pay रखा गयाNavlekha Projects

2) Navlekha Projects Lunch किया गया

3) Navlekha Projects से जुड़ने के लिए 3 साल की होस्टिंग ओर डोमेन Free मिलेगा

Google for India 2018 event के दोरान ये कहा कि भारत मे आज भी बहुत से लोग है जो क्षेत्रीय भाषाओं मे Content लिखते है | ईन का Content internet पर नहीं पहुच सकता, ओर Internet पर आज भी इंग्लिश की तुलना मे केवल एक प्रतिशत हिंदी Content Google पर मोजुद है | Navlekha project की मदद से ऐसे लोग भी जो क्षेत्रीय भाषाओं में लिखते हैं ओर internet तक अपना आर्टिकल नहीं पहुचा सकते हैं तो इस के लिए Google Navlekha Projects Best रहेगा

Google के Navlekha project के दरमियान बहुत सारा फायदा हुवा है | जो क्षेत्रीय भाषाओं मे लिखते हैं ऐसे लोगो के लिए | तो आज मैं आप को विस्तार से Navlekha project क्या है ? ये जानकारी आप तक पहुचा रहा हू |

Navlekha Projects क्या है ?

 [ What Is Navlekha Projects In Hindi  ]

भारत और दक्षिणपूर्व एशिया के vice president राजन आनंदन ने कहा है कि नवलेखा शब्द संस्कृत से लिया गया है । Navlekha का हिन्दी मे मतलब है ‘लिखने का एक नया तरीका | Google For India 2018 मे Google ने कहा भारत मे आज भी 135,000 प्रिंट पब्लिशर्स है | जिन मे से 90 प्रतिशत ऐसे हैं जिनकी खुद की वेबसाइट नहीं है | अगर ऐसे लोगो को होस्टिंग ओर Domain दे कर ऑनलाइन लाया जाए तो बड़ा फायदा होगा | ओर क्षेत्रीय भाषा मे हमे Content मिलेंगे | ओर फायदा ये होगी कि हिंदी, इंग्लिश language के सिवा भी Other भाषा मे Google से जानकारी मिलेगी |

कंपनी ने कहा है कि वेबसाइट setup करने के लिए Google की तरफ से सपोर्ट मिलेगा ओर तीन साल के लिए होस्टिंग ओर डोमेन फ्री रहेगा ओर साथ मे adsense का भी सपोर्ट मिलेगा | Navlekha Projects Lunch होने के बाद गूगल पर तमिल, मराठी, पंजाबी, बंगाली, Gujarati, ऐसी सभी भाषा Google रिज़ल्ट मे show होगी | ईन से visitors को भी फायदा होगा |

Google Navlekha Projects मे क्या है खास ?

Navlekha project मे क्षेत्रीय भाषाओं को शामिल किया गया है | अब तक सिर्फ google से English भाषा के लोग ही पैसे कमाई कर रहे थे | लेकिन Navlekha project के बाद गूगल पर तामिल, मराठी, पंजाबी, बंगाली, Gujarati, ऐसी सभी भाषा के लोग पैसे कमाई कर सकते हैं |

साथ मे गूगल ने ये भी कहा जिन को भी अपनी क्षेत्रीय भाषाओं मे आर्टिकल लिखना है उन को हम पूरी तरह से हेल्प करेंगे जिन मे हम तीन साल के लिए फ्री होस्टिंग ओर डोमेन की service देंगे ओर साथ मे Google Adsense का support भी मिलेगा |

Google Navlekha Projects से किसे होगा फायदा ?

Navlekha प्रोजेक्ट से खास कर उन पब्लिशर को फायदा मिलेगा जो अपना Content ऑनलाइन लाना चाहते हैं | अपनी क्षेत्रीय भाषाओं तमिल, मराठी, पंजाबी, बंगाली, Gujarati, Etc, भाषा मे अच्छा लिखते हैं लेकिन ऑनलाइन नहीं ले कर आ सकते | ऐसे लोगो को फायदा होगा ओर Google की तरफ से अपनी writing स्किल के बदले पैसे भी मिलेंगे | यानी कमाई का जरिया बनेगा |

Navlekha Projects मे सारी चीज़े फ्री होंगी तो पब्लिशर को सिर्फ आवेदन करना है | इस के बाद Google की टीम आप को Help करेंगे, फ्री Register के बाद अपनी वेबसाइट setup कर सकते हैं ओर अपने आर्टिकल को किसी भी भाषा मे ऑनलाइन ला सकते हैं |

Navlekha projects कैसे काम करेंगा ?

Navlekha Projects को बहुत सारी technics का उपयोग कर के बनाया गया है | क्योकि ये एक ऐसा टूल होगा जो artificial intelligence का उपयोग कर के सभी भाषा के आर्टिकल को PDF फ़ाइल मे बदलता है | ओर अपने आप सारा Setup होता है ओर automatically ये मोबाइल friendly बन जाएगा ओर विजिटर्स को उपयोग करना Easy हो जाएगा |

Navlekha Projects के लिए कैसे आवेदन कर सकते हैं ? ( How To Register Navlekha project 2018)

Navlekha projects के लिए आप बिल्कुल फ्री मे Register कर सकते हैं | ओर Free होस्टिंग ओर डोमेन के साथ Startup कर सकते हैं तो इस के लिए आप को Google के Navlekha Page पर जाना होगा ओर अपने जीमेल से Sing Up करना होगा | इस के बाद आप के Application का review Google Navlekha team के पास पहुच जाएगा

कुछ दिन के बाद Navlekha team आप से सम्पर्क करेगा ओर अगर आप Navlekha privacy policy से Agree होंगे तो आगे की प्रोसेसिंग के लिए भेजा जाएगा ओर कुछ ही मिनटों मे आप को Navlekha Approval मिल जाएगा |

गूगल इंडिया प्रेसिडेंट राजन आनंदन ने क्या कहा ?

गूगल इंडिया और साउथ ईस्ट एशिया मार्केट के प्रेसिडेंट राजन आनंदन ने कहा कि भारत में ज्यादातर लोग क्षेत्रीय भाषा में इंटरनेट यूज करते हैं. यह तादाद आगे और बढ़ेगी. जब तक लोगों को उनकी भाषा में कंटेंट न मुहैया कराया जाए स्मार्टफोन फायदेमंद साबित नहीं होंगे.

अभी इंटरनेट पर भारतीय भाषाओं का आर्टिकल अंग्रेजी भाषा के आर्टिकल की तुलना में एक फीसदी है. सबसे बड़ा मुद्दा यह है कि क्षेत्रीय भाषा के पब्लिशर को इंटरनेट पर आर्टिकल ले जाने के लिए काफी मुश्किल प्रोसेस से होकर गुजरना पड़ता है.  इसलिए नवलेखा प्रोजेक्ट इस मुश्किल को सुलझा देगा, ओर आने वाले समय को नयी दिशा मे ले कर जाएगा |

 ये Navlekha Projects क्या है ? पोस्ट आप के लिए सच मे कितना उपयोगी रहा ये हमे बताए ताकि हम आप सभी के लिए ऐसी जानकारी ले कर फिर से आने की प्रेरणा मिले

Panarainfo.com इस से पहले भी हम ने बहुत सारी  जानकारी Shear किया है, ओर आगे भी करते रहेंगे, आप के लिए ये जानकारी कैसी रही ये बात हमारे साथ शेयर करे ओर Panarainfo.Com के साथ जुड़े रहे |

ये भी पढ़े  ! 

Comments (1)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *